Shri krishna sharma

Shri Krishna Sharma's Samaysakshi

I write to express myself, the poems, songs, artists I like
and the places I visit - all those inspire me to write. I
love Raj Kapur, Mukesh and like many many poets.

  • Rated4.1/ 5
  • Updated 8 Days Ago

तुम समुद्र की पुत्री हो!

Updated 11 Days Ago

तुम समुद्र की पुत्री हो!
आज भी मैं विख्यात कवि नोबेल पुरस्कार विजेता- श्री पाब्लो नेरुदा की मूल रूप से ‘स्पेनिश’ भाषा में लिखी गई एक कविता के अंग्रेजी अनुवाद के आधार पर उसका भावानुवाद और उसके बाद अंग्रेजी में अनूदित कविता,…
Read More