Tikuli

Tikuli's Spinning A Yarn Of Life

My blog reflects all that is part of me and what I believe
in. It is a reflection of my heart and soul.

  • Rated2.4/ 5
  • Updated 3 Months Ago

एक शहर ये भी - कविता 9 - हाशिये में शहर

Updated 3 Months Ago

एक शहर ये भी - कविता 9 - हाशिये में शहर
कनॉट प्लेस के सेंट्रल पार्क के बेंच पर उंघती ज़िन्दगी, बेपरवाह,बेख़ौफ़, खोने के लिए उसके पास अब यादें भी नहीं रही, हाशिये में रहने वालों की ज़िन्दगी और मौत दोनों ही थोड़ी सस्ती होती हैं आम ज़िंदगिओं में …
Read More