P

Prithvi's Kankad

A blog about Indian villages, specially flora & fauna or
Rajasthan.

  • Rated2.4/ 5
  • Updated 3 Years Ago

जुनूं की इक मंजिल सी मार्तिना

Updated 3 Years Ago

जुनूं की इक मंजिल सी मार्तिना
बाहर वाले कमरे में दरवाजे के नीचे से खिसकाए गए अखबारों को ढेर लगा है। हर बार की तरह। कई दिन के बाद घर में घुसते ही पहला काम होता है इन अखबारों को समेट कर रास्ता बनाना। अखबार समेटते समेटते ही एक खबर…
Read More